Tag: JAMMU KLASHMIR

फिर से कश्मीर जंनत होगी

फिर से कश्मीर जंनत होगी सुबह कि नई बाहर सजेगी गुलशन के रंग सिंगार रचेगी नई कश्मीर नई तस्वीर होगी सूरज लालिमा लायेगा नये पनसे नीला अंबर नये रंग से खिलेगा चाँद अपनेपन मे मुशकरायेगा सितारे अपने आचलमे लहेरायेगें फिर से कश्मीर जंनत होगी उचे परबत वादिया हरियाली सजा़्येगें उडते जूमते पछीं गुन गुना येगें नदियो का पानी शोर मे…